Tuesday, 27 October 2020, 12:00 PM

धर्म कर्म

भोलेनाथ को प्रसन्न करने के लिए सोमवार की शाम को जरुर करें ये काम, बन जाएंगे सारे काम

Updated on 27 October, 2020, 6:30
यूं तो भोलेनाथ सबकी मनोकामनाएं पूरी करते हैं, मगर सोमवार को किए गए कुछ खास उपायों से आपके बिगड़े हुए काम भी बन सकते हैं। तो कौन-से हैं वो उपाय जिनके जरिए शिव जी को प्रसन्न किया जा सकता है आइए जानते हैं। 1. अगर आप धन प्राप्त करना चाहते हैं... आगे पढ़े

अयोध्‍या का कायाकल्‍प करने की तैयारी में योगी सरकार, भव्‍यता-दिव्‍यता के साथ ईको फ्रेंडली भी होग

Updated on 27 October, 2020, 6:15
अयोध्या देशी विदेशी पर्यटकों-श्रद्धालुओं की पसंदीदा जगह के रूप में उभर रही है. अयोध्या को आस्था, आध्यात्मिकता, पर्यटन के साथ-साथ व्यापार रोजगार का केंद्र के अलावा इको फ्रेंडली भी बनाने की योजना है. आने वाले वर्षों में रामलला के भव्य मंदिर निर्माण श्रीराम की दुनिया में सबसे ऊंची मूर्ति बनने... आगे पढ़े

इंसान को मृत्यु आने से पहले मिलने लगते हैं ऐसे संकेत

Updated on 27 October, 2020, 6:00
जो इंसान इस संसार में आया है उसको एक दिन जाना ही होगा। यह सत्य है इसको कोई नहीं टाल सकता है। यह इस संसार का नियम है। ऐसे में फिर भी सभी को मौत का भय सताता रहता है और सभी मौत से डरते हैं। लेकिन क्या आप जानते... आगे पढ़े

भारत के इस स्थान पर आज भी चल रहा हैं काले जादू का बड़ा षड्यंत्र, जानकार होंगे हैरान

Updated on 26 October, 2020, 6:45
आप को बता दें कि कोलकाता का ये निमतला काले जादू के लिए बंगाल हमेशा से ही चर्चा का विषय रहा है और आप को यह भी जानकारी दें दें की ऐसा कहा जाता हैं कोलकाता के निमतला घाट पर बड़े स्तर पर तंत्र साधना की जाती है और बहुत... आगे पढ़े

भैरव के बिना अधूरी है मां दुर्गा की पूजा, जानिए पूरी कथा

Updated on 26 October, 2020, 6:30
नवरात्र में अष्टमी अथवा नवमी के दिन कंजक उपासना की जाती है। इस दिन नौ कन्याओं के पूजन के साथ काल भैरव के बाल स्वरूप की भी आराधना होती है। ऐसी मान्यताओं हैं कि काल भैरव के बगैर मां दुर्गा की पूजा तथा नौ दिनों का उपवास सब अधूरा है।... आगे पढ़े

जानें सिंदूर खेला की परंपरा के बारे में, क्या‍ होता है देवी बोरोन

Updated on 26 October, 2020, 6:15
नवरात्रि के बाद मां दुर्गा की प्रतिमा के विसर्जन के दिन पश्‍चिम बंगाल बांग्‍लादेश के कुछ इलाकों में सिंदूर खेला या सिंदूर उत्सव (Sindur Khela) मनाया जाता है. सुहागिन महिलाएं (Married Women) इस दिन पान के पत्ते से मां दुर्गा को सिंदूर (Sindur) अर्पित करती हैं. उसके बाद एक दूसरे... आगे पढ़े

आखिर रविवार के दिन क्यों नहीं तोड़े जाते हैं तुलसी के पत्ते, वजह जानकर होंगे हैरान

Updated on 24 October, 2020, 6:45
आजकल तुलसी का पौधा हर घर में मिलता है। तुलसी को माँ की तरह पूजा जाता है। रविवार के दिन तुलसी नहीं तोड़नी चाहिए। इसी के साथ ही भारतीय संस्कृति व सनातन धर्म में कुछ ऐसे रीति-रिवाज और मान्यताएं हैं जिनका पालन प्राचीन समय से किया जा रहा है और... आगे पढ़े

घर में माता लक्ष्मी की मूर्ति लगाते समय इन बातों का रखें ध्यान, जानिए

Updated on 24 October, 2020, 6:30
माँ लक्ष्मी को धन की देवी माना गया है। माँ लक्ष्मी की पूजा करने से धन धान्य की कभी कमी नहीं होती बल्कि आपका फायदा ही फायदा होता है। माता लक्ष्मी की आराधना करने से आपके घर में लक्ष्मी हमेशा विराजमान रहती हैं। लेकिन घर में अगर माता लक्ष्मी की... आगे पढ़े

हिन्दू धर्म ग्रंथों के अनुसार इन चीजों को जमीन पर रखना माना जाता है अशुभ

Updated on 24 October, 2020, 6:15
हमारे हिन्दू धर्म ग्रंथों के अनुसार कुछ चीजों को जमीन पर रखने से मनुष्य को नर्क में जाना पड़ता है। श्रीमद भगवत गीता के नवम स्कंद के अनुसार, आज हम आपको कुछ ऐसी ही चीजों के बारे में बता रहे हैं, जिन्हें सीधे जमीन पर नहीं रखना चाहिए। शालिग्राम शिला, शिवलिंग,... आगे पढ़े

चंद्रमा से बनने हैं कई प्रकार के योग  

Updated on 22 October, 2020, 7:00
चंद्रमा पृथ्वी पर सबसे ज्यादा असर डालने वाला ग्रह है। इसका सीधा असर व्यक्ति के मन और संस्कारों पर पड़ता है। इसलिए चंद्रमा से बनने वाले एक-एक योग इतने ज्यादा महत्वपूर्ण होते हैं। चंद्रमा से तीन प्रकार के शुभ योग बनते हैं- अनफा, सुनफा और दुरधरा इन तीनों में से एक... आगे पढ़े

हथेली के निशान भी होते हैं शुभ अशुभ 

Updated on 22 October, 2020, 6:45
हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार हमारी हथेली पर ऐसे कई निशान होते हैं जो छोटी-छोटी रेखाओं के मिलने या टकराने से बनते हैं। इनमें कुछ निशान हमें शुभ फल प्रदान करते हैं, किंतु कुछ बेहद अशुभ होते हैं।   कुछ खास स्थितियों में चक्र का निशान जहां हथेली के कुछ शुभ... आगे पढ़े

रंगों का भी पड़ता है जीवन पर प्रभाव  

Updated on 22 October, 2020, 6:30
रंगों का भी हमारे जीवन में अहम स्थान है , खुशी व्यक्त करने के साथ ही रंग जीवन में सुख और संपदा लाते हैं। इसी लिए हम घर की साजसज्जा के लिए रंगरोगन करते हैं। रंगों का भी जीवन पर गहरा प्रभाव पड़ता है। वास्तुशास्त्र के अनुसार अगर रंग किये... आगे पढ़े

अपने इष्ट को ऐसे पहचानें  

Updated on 22 October, 2020, 6:15
हर व्यक्ति के इष्ट देवी या देवता होते हैं। अगर समय रहते उन्हें पहचान लिया जाए तो ग्रहों के हर दुष्प्रभाव से बचा जा सकता है। तो आप भी अपने इष्ट देव को पहचानें और उनकी उपासना करें। फिर सुखी जीवन के लिए किसी दूसरे उपाय की ज़रूरत नहीं पड़ेगी।... आगे पढ़े

शस्त्र पूजन में रखें सुरक्षा का ध्यान  

Updated on 22 October, 2020, 6:00
नवरात्र में नौ दिनों की आराधना के बाद विजयदशमी पर शक्ति के प्रतीक के रुप में शस्त्र पूजन होता है। नौ दिनों की शक्ति उपासना के बाद 10वें दिन जीवन के हर क्षेत्र में विजय की कामना के साथ चंद्रिका का स्मरण करते हुए शस्त्रों का पूजन करना चाहिए। विजयादशमी... आगे पढ़े

नवरात्रि में व्रत के साथ ऐसे रहें फिट  

Updated on 21 October, 2020, 6:00
नवरात्र में वत्र के दौरान आप पनी सेहत का भी पूरा ध्यान रखें तभी आप परिवार का ध्यान रखने के साथ ही त्यौहारों का भी पूरा आनंद उठा पायेंगी। व्रत के दौरान सही फलाहार करके आप आराम से नौ तक अपने सभी काम करने के साथ ही देवी मां क... आगे पढ़े

आचार्य चाणक्य के अनुसार ऐसे धर्म, स्त्री और गुरुओं का कर देना चाहिए त्याग

Updated on 20 October, 2020, 6:45
आचार्य चाणक्य की नीतियां आज भी हर इंसान के लिए बहुत उपयोगी है। चाणक्य नीति नाम की पुस्तक में आचार्य चाणक्य कहते हैं कि जो भी व्यक्ति नीतियों का अक्षरशः पालन करेगा उसे जीवन में सभी सुख-सुविधाएं प्राप्त होगी। साथ ही वह अपने जीवन के हर क्षेत्र में सफलता प्राप्त... आगे पढ़े

जानिए मामा शकुनी के पासे का रहस्य, क्यों मानते थे उसकी बात

Updated on 20 October, 2020, 6:15
महाभारत कौरव और पांडवों के बीच हुआ था, जिसे धर्मयुद्ध कहा गया। श्रीकृष्ण के नेतृत्व में हुए इस युद्ध से धर्म पर चलने वाले पांडवों की जीत हुई और कौरवों की पराजय। लेकिन यह जानकर हैरानी होगी कि इस युद्ध को श्रीकृष्ण ही नहीं बल्कि शकुनी भी कराना चाहता था।... आगे पढ़े

 दान और परोपकार से घटता नहीं है धन 

Updated on 19 October, 2020, 6:00
सभी धर्मों में कहा गया है कि दान करो। दान करने से धन घटता नहीं है बल्कि आपका धन बढ़ता है। लेकिन समस्या यह है कि लोग धन बढ़ने का तात्पर्य यह समझते हैं कि आज आप सौ रूपये कमाते हैं तो कल हजार रूपये कमाने लगेंगे। शास्त्रों में मुद्रा... आगे पढ़े

इन देवी धामों पर मिलती है मां अम्बे की सीधी कृपा, मात्र एक बार के दर्शन से पूरी होती है मनोकामना

Updated on 18 October, 2020, 6:45
भारत एक ऐसा देश है जहां स्त्रियों को देवी की तरह पूजा जाता है। हिन्दू धर्म के मतानुसार सृष्टि का सृजन आदि शक्ति ने किया है। आदि शक्ति को देवताओं से भी अधिक शक्तिशाली और प्रभावशाली माना जाता है। हिन्दू मान्यताओं के अनुसार देवी की उपासना से हर रोग, शोक,... आगे पढ़े

द्बितीय भगवती- ब्रह्मचारिणी: भक्त के जीवन की बाधाएं दूर होती हैं

Updated on 18 October, 2020, 6:30
द्बितीय भगवती- ब्रह्मचारिणी यह भगवती का दूसरा स्वरूप है। यहां ब्रह्म का आशय है तप। ब्रह्मचारिणी का आशय है कि तप का आचरण करने वाली। माना जाता है कि वेद, तत्व और तप ब्रह्म के अर्थ हैं। ब्रह्मचारिणी के ज्योतिर्मय स्वरूप में भगवती दाहिने हाथ में जप की माला और बाए... आगे पढ़े

महामारी के डर के बीच मैसूरु में शुरू हुआ दशहरा उत्सव

Updated on 18 October, 2020, 6:15
देश-दुनिया में मशहूर मैसूर का 10 दिनी दशहरा उत्सव शनिवार को कोविड -19 महामारी के बीच शुरू हुआ, हालांकि उत्सव से हमेशा की तरह रहने वाली भव्यता नदारद रही। दशहरा कर्नाटक के लोगों द्वारा मनाए जाने वाले सबसे बड़े त्योहारों में से एक है और इसे 'नाडा हब्बा' (राज्य त्योहार)... आगे पढ़े

19 साल बाद पुरुषोत्तम मास के तुरंत बाद नवरात्र का दुर्लभ संयोग आया, मां की आराधना से हर तरह के रोग दू

Updated on 18 October, 2020, 6:00
आदि शक्ति स्वरूपा की आराधना का शारदीय नवरात्र का हुआ आरंभ। नवरात्र के पहले दिन सर्वार्थ सिद्धि योग में मां भगवती का आगमन होगा। अभिजीत मुहूर्त और सूर्य के तुला राशि में प्रवेश के साथ ही गुरु के धनु लग्न में होने से कलश स्थापना का इस बार महायोग बन... आगे पढ़े

नवरात्रि के 9 दिनों में क्या करें, क्या न करें, 10 काम की बातें

Updated on 16 October, 2020, 6:45
17 अक्टूबर 2020 से नौ दिन माता भगवती को अपराजिता का फूल अर्पित कर बाधाओं को दूर करने की प्रार्थना करें। आइए जानें इन 9 दिनों में क्या करें, क्या न करें... 1.आप नवरात्रि का व्रत रखने में असमर्थ हैं तो भी आपको नौ दिनों तक अपने खान-पान पर विशेष नियंत्रण... आगे पढ़े

नागा साधु कोई वस्त्र नही पहनते, जानिए गहरा राज।

Updated on 16 October, 2020, 6:30
जैसे कि हम सब जानते है कि हमारे देश भारत देश धर्म प्रधान देश है। यहां कई तरह के साधु संत भी है। जिनकी अपनी ही विशेषताएं होती है। कई साधु तो ऐसे भी है जो किसी प्रकार के वस्त्र धारण नहीं करते है। उन्हें सांसारिक जीवन से कोई मतलब... आगे पढ़े

माता के 51 शक्ति पीठ : शुचि- नारायणी शक्तिपीठ-11

Updated on 16 October, 2020, 6:15
देवी भागवत पुराण में 108, कालिकापुराण में 26, शिवचरित्र में 51, दुर्गा शप्तसती और तंत्रचूड़ामणि में शक्ति पीठों की संख्या 52 बताई गई है। साधारत: 51 शक्ति पीठ माने जाते हैं। तंत्रचूड़ामणि में लगभग 52 शक्ति पीठों के बारे में बताया गया है। प्रस्तुत है माता सती के शक्तिपीठों में... आगे पढ़े

नवरात्रि में क्यों खाते हैं ये फलाहार ? 

Updated on 15 October, 2020, 7:00
नवरात्रि में देवी की उपासना के साथ ही नौ दिनों के उपवास होते हैं इन दिनों फलाहार ही होता है। इन दिनों घर में सादे नमक की जगह सेंधा नमक और गेहूं के आटे की जगह  बल्कि सिर्फ कूटू का आटा या सिंघाड़े का आटा खाया जाता है। इसके पीछे... आगे पढ़े

नौ दिनों तक होती है मां दुर्गा की अराधना  

Updated on 15 October, 2020, 6:45
शनिवार 17 अक्टूबर से शारदीय नवरात्र की शुरुआत हो रही है। नवरात्रि के दिनों में नौ दिनों तक मां दुर्गा के नौ अलग-अलग स्वरूपों की पूजा होती है। आश्विन मास में मनाए जाने वाले नवरात्रों में दसवें दिन विजयदशमी यानी दशहरा मनाया जाता है। कैसे हुई थी शारदीय नवरात्र की शुरुआत ऐसी... आगे पढ़े

विजेता बनना है तो धारण करें वैजयंती माला  

Updated on 15 October, 2020, 6:30
धर्म में सफल होने के लिए पूजा पाठ और हवन के साथ ही कई अन्य उपाय भी है। धर्म शास्त्रों के अनुसार  वैजयंती माला- एक ऐसी माला जो सभी कार्यों में विजय दिला सकती है। इसका प्रयोग भगवान श्री कृष्ण माता दुर्गा, काली और दूसरे कई देवता करते थे। रत्न के... आगे पढ़े

आध्यात्मिक जीवन से होता है दैवीय गुणों का विकास 

Updated on 15 October, 2020, 6:15
दैवीय गुणों का विकास करने के लिए आध्यात्मिक जीवन के अभ्यासी बनें क्योंकि इस जीवनशैली में स्वाभाविक रूप से जीवन की सिद्धि, सफलताएं, समाधान और कल्याण के सूत्र मौजूद हैं। इसमें क्षमाशीलताएं, विनय और परमार्थ जैसे अनेक सद‌्गुणों का स्थायी वास रहता है। जन्म, जरा और मृत्यु भौतिक शरीर को... आगे पढ़े

शिवतांडव स्तोत्र से मिलती है सिद्धि  

Updated on 15 October, 2020, 6:00
शिवतांडव स्तोत्र का प्रतिदिन पाठ करने से व्‍यक्ति को जिस किसी भी सिद्धि की महत्वकांक्षा होती है, भगवान शिव की कृपा से वह आसानी से पूर्ण हो जाती है। इस बारे में एक कथा से जाना जा सकता है। कुबेर व रावण दोनों ऋषि विश्रवा की संतान थे और दोनों... आगे पढ़े

मूवी रिव्यू